Gf को मनाने की शायरी |Gf ko Manane ki Shayari

हाई दोस्तो आपका इस पोस्ट में स्वागत है।

GF-ko-manane-ki-shayari

में आशा करता हू की आपको Gf को मनाने की शायरी (Galib ki shayari in Hindi on love) पसंद आयेंगे क्युकी मेने मैंने गालिब के कुछ लेटेस्ट कलेक्शन ऑफ़ गालिब शायरी इन हिंदी ऑन लव ऐड किया है

 

बहुत उदास है ये दिल
तेरे जाने से,
चलो अब आ भी जाओ ना
किसी बहाने से ,
ऐसे न जाओ छोड़ के
मुझे अकेला यहा,
में बिखर गया हु
तेरे रूठ कर जाने से

bahut udaas hai ye dil
tere jane se ,
chalo ab aa bhi jao na
kise bahane se,
ese na jao chode ke
mujhe akela yaha,
mein bikhar gaya hu
ter ruth kar jane se

मेरी जिंदगी में खुशिया
तेरे बहाने से है
आधी तुझे सताने से है
और आधी तुझे मनाने से है। 

Meri zindagi mein khushiya
tere bahane se hai
aadhi tujhe satane se hai
aur adhi tujhe manane se hai

अगर इस तरह हर बात पर
जो तू मुझसे रूठ जाएंगी,
सच कहता हु याद रखना
मेरी तो दुनिया ही
टूट जायेंगी

Aagar es tarah har baat par
jo tu mujase ruth jayengi,
sach kahata hu yaad rakhana
meri toh duniya hi
tuth jayengi

 

कितना सुना लगता है
जब चांद हो और तारे नहीं
उसी तरह जिंदगी हो
और उस में तुम नहीं। 

kitana suna lagata hai
jab chand ho aur tare nahi
usi tarah zindagi ho
aur uus mein tum nahi

आज ये कहना था तुमसे
की तुम्हारे बिना अब
नहीं रहा जाता हमसे

aaj ye kahana tha tumase
ki tumhare bina ab
nahi raha jata hamase

 

दिल कबसे तड़प रहा है
आपके एक अल्फाज़ के लिए
तोड़ भी दो ये खामोशी
मुझे जिंदा रखने के लिए। 

dil kabase tadap raha hai
apako ek alfaaz ke liye
tod bhi doo ye khamoshi
mujhe zinda rakhane ke liye

संग तुम्हारे जिंदगी बितानी है
बस यही मेरे दिल की कहानी है

sang tumhare bitani hai
bs yahi mere dil ki kahani hai

 

अपनी बिगड़ी हुई तक़दीर को सवारने में लगा हूँ,
आज मेरी खुशी मुझसे रूठी है मैं मानाने में लगा हूँ।

apani bigadi hue takadir ko savarane mein laga hu,
aaj meri khushi mujhase ruthi hai mein manane mein laga hu

जहा भी नजारा घुमाओगे
हमही नजर आयेंगे
फिर जितना हमसे मुह मोडोंगे
उतना ही याद आयेंगे

jaha bhi nazara ghumaoenge
hamahi nazar ayenge
phir jitana hamase muh modonge
utana hi yaad ayenge

कब तक रह पाओगे 
यू दूर हमसे 
मिलना तो पड़ेगा कभी 
ज़रुर हमसे
नज़रे चुराने वाले ये 
बेरुखी कैसी 
कह दो अगर हुआ है कोई 
कसूर हमसे।

kab tak rah paoge
ye dur hamase
milana toh padenga kabhi
jarur hamase
nazare churane vaale ye
berukhi kaise
kah do agar hua hai koi
kasur hamase

अगर जुबान से ये शब्द ना निकले
तो मेरी आंखों को पढ़ लेना
दिल अगर कुछ बया ना कर पाए
तो खुद ही हाल ऐ दिल समझ लेना

agar juban se ye shabdh na nikale 
toh mere ankho ko padh lena
dil agar kuch baya na kar paye
toh khud hi haal ye dil samaj lena

 

दिल से तेरी याद को मिला तो नहीं किया
राखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया
हम से तू नराज है किस लिए बता जरा
हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया

Dil Se Teri Yaad Ko Juda Toh Nahi Kiya
Rakha Jo Tujhe Yaad Kuchh Bura Toh Nahi Kiya
Hum Se Tu Naraaj Hai Kis Liye Bata Jaraa
Humne Kabhi Tujhe Khafa Toh Nahi Kiya

 

सिर्फ कुछ दूर तक नही
जिंदगी भर मेरे साथ चलो

sirf kuch dur tak nahi
zindage bhar mere sath chalo

 
हमसे कोई खाता हो जाए तो माफ करना
हम याद ना कर पाए तो माफ करना
दिल से तो हम आपको कभी भुलते नहीं
पर ये दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना
 
Humse Koyi Khata Ho Jaye Toh Maaf Karna
Hum Yaad Na Kar Payein Toh Maaf Karna
Dil Se Toh Hum Aapko Kabhi Bhulte Nahi
Par Yeh Dil Hi Ruk Jaaye To Maaf Karna
 

रात भर भीगी आंखों से इंतजार में इसी,
तेरी जरा आवाज सुनने का शायद ये दम
बचा था,
आखिर कहने को बस, अब थक चुकी हु मैं!

Raat bhar bhigi akho se itanzaar mein esi,
teri jara avaaj sunane ka shayad ye dam
bacha tha,
akhir kahane ko bs, ab thak chuki hu mein

तुम भले ही मुझसे नारज हो
मगर तुम्हारे दिल से निकलने की बात मत करना..!

Tum bhale hi mujhse naaraaz raho
Magar tumhe dilse nikaalne ki baat mat karna..!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!